Advertisement

Sunday, March 06, 2016

author photo

Bael Benefits & Side Effects In Hindi - बेल के फायदे और नुकसान

बेल के फल और पत्ते औषधीय गुणों से भरपूर भी हैं। बेल के फल में विटामिन सी, कैल्शियम, फाइबर, प्रोटीन और आयरन भी अधिक मात्रा में मिलते हैं।

बेल के नियमित सेवन से शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति होती है साथ ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। तो चलिए जानते है, Bel के फायदे और नुकसान के बारें में :-

Bel Khane Ke Fyade - Bael Benifits: 

हिंदू धर्म में बेल को एक पवित्र पौधा है और बेल के पत्तों का इस्तेमाल पूजा में किया जाता है। पर कई लोगों को बेल के फायदों (Bael Benefits) के बारे में जानकारी ही नहीं है जबकि आयुर्वेद में इसे पाचन संबंधी कई बीमारियों में फायदेमंद बताया गया है।

यह भी पढ़ें:➧  Amazing health benefits of Coriander - Dhaniya ke Fayde

बेल एक ऎसा फल है जो कई रोगों को दूर करनें के काम आता है। बेल के फल का गूदा और बीज पेट साफ करते हैं। बेल से शुगर को कंट्रोल किया जाता है। बेल से कफ व वात को भी खत्म किया जा सकता है।

Bael benefits in hindi - Bael in hindi
Bael Benefits in hindi - बेल के फायदे

बेल अतिसार, शुगर, खून की कमी, सफेद पानी की परेशानी और पीरियड्स में होने वाली एक्ट्रा ब्लीडिंग को कम करने में मदद करता है।

Bael Benefits in Hindi:


बेल (Bael fruit) पेट से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने में बहुत ही कारगर है। बेल का मुरब्बा खाने से पित्त व अतिसार में लाभ होता है। पेट के सभी रोगों में बेल का मुरब्बा खाने से लाभ मिलता है। इसके अलावा कान दर्द, स्कर्वी, डायबिटीज, डायरिया, पेचिश आदि रोगों में भी लाभकारी है। बेल के गूदे के साथ साथ बेल के बीज भी बहुत गुणकारी होते हैं।

बेल के औषधीय गुण:


आइए जानते हैं बेल के औषधीय गुणों के बारे में -
  • गर्मियों में बेल का शरबत पीने से लू लगने की संभवाना कम होती है, बाहरी गर्मी के अलावा इससे पेट की गर्मी में भी दूर होती है।
  • पके हुए बेल का शर्बत पुराने आंव की सबसे अच्छी दवा है। इसके सेवन से ये रोग बहुत जल्दी ही दूर हो जाता है। 
  • बेल के गूदे को गुड़ मिलाकर सेवन करने से खूनी दस्त के रोगी का रोग दूर हो जाता है।
  • मिश्री मिले हुए दूध के साथ बेल की गिरी के चूर्ण का सेवन करने से, खून की कमी व शारीरिक दुर्बलता दूर होती है। 
  • बेल का शर्बत तैयार करने में बाद उसमें कुछ बूंदें घी की डालकर अगर रोजाना एक नियमित मात्रा में सेवन किया जाए तो हृदय से संबंधी बीमारियों से बचाव होता है
  • डायरिया की समस्या में होने वाले उल्टी-दस्तों, जी मिचलाने में बेल के गूदे को पानी में मथ कर चीनी मिला कर पीने से लाभ होता है।
  • बेल के पत्तों को पीसकर छान लें, इस 10 मिलीलीटर रस के प्रतिदिन सेवन से मधुमेह में शर्करा आना कम हो जाती हैं।
  • दस ग्राम बेल के पत्तों को 4-5 कालीमिर्च के साथ पीसकर उसमे 10 ग्राम मिश्री मिलकर शरबत बना लें। इसका दिन में तीन बार सेवन करने से पेट दर्द ठीक हो जाता है।

Bael Side Effects in Hindi:


बेल से कोई ख़ास नुकसान नहीं होते हैं लेकिन अगर आप ज़रुरत से ज्यादा मात्रा में इसका सेवन कर रहे हैं तो आपको बेल के नुकसान (bael side effects)  हो सकता हैं।

यह भी हो सकता है कि आपके शरीर को बेल से एलर्जी हों, तो अगर आपने आजतक बेल के फल का सेवन नहीं किया है तो इसे पहले थोड़ा सा खाकर चैक कर लें।
  • अधिक मात्रा में बेल का सेवन पेट में होने वाली सम्याओं का एक कारण बन सकता है। 
  • हाई ब्लड प्रेशर वाले लोगों को बेल का शरबत नहीं पीना चाहिए। 
  • कार्डियाक पेशेंट हैं तो बिल्कुल भी बेल का शरबत न पिए।
  • थायराइड के मरीजों को बेल के सेवन से परहेज करना चाहिए

आपको हमारी Post Bel fayde aur Nukshaan कैसी लगी। आप इसे अपने मित्रों और परिवारजनों के साथ जरूर शेयर करें हो सकता उन्हें "Bel Benifits in Hindi" की जानकारी न हो। अगर बेल के खाने से कोई भी समस्या होती है तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

This post have 0 Comment

Next article Next Post
Previous article Previous Post
loading...

Advertisement