Blogging और उनसे जुड़े Basic Terms: एक Successful Blogger बनने के लिए!


 Basic Blogging Terms in Hindi  ब्लॉगिंग से जुड़े महत्वपूर्ण शब्द   

यदि आप एक नये Blogger हैं, और इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं, तो आप पैसे कमाने के लिए या अपने लिखने के Hobby के कारण ब्लॉग बनाने की सोच रहे हैं। 

चाहे बात जो भी हो, आपके लिए Blogging नया हैं, तो आप आसानी से इसके कुछ Blogging terms में उलझ सकते हैं। जब मैंने अपनी Blogging journey की शुरुआत की थी, तो कुछ ऐसे ही शब्दों की जानकारी नहीं होने से Problem हुई थी। 

इसी कारण आज मैं आपको ऐसे ही Important Blogging Terms के बारे में बताऊंगा, ताकि आपकी Blog Journey आसान हो सकें। साथ ही, ब्लॉगिंग से जुड़े शब्दों को समझने पर हमें अन्य दुसरे Bloggers के साथ Communicate करने और Collaborate करने में आसानी होती हैं।


Essential Blog Terminology In Hindi (Blogging Glossary)

इससे पहले की हम आगे बढ़े, मैं आपको बता दूँ, कि यह Blog Vocabulary Google के Blogger Platform पर आधारित है। 

तो चलिए हम कुछ Popular Blogging Terms के साथ शुरू करते हैं। (जैसेः Blog, Blogger, Blogging, Blog Templates और SEO)

Blogging Terms in Hindi
Basic Blogging Glossary in Hindi

Blog: 

ब्लॉग का मतलब 'Web-Log या Website Log' है, जो एक ऐसी वेबसाइट होती है, जो किसी Person द्वारा Daliy Life Experiences के Knowledge और Thoughts को लिखने के लिए निजी तौर पर स्वामित्व में होती है।


सरल शब्दों में, एक ब्लॉग एक Personal Website है, जो इसे किसी Agency / Companies-Website  और News Sites से अलग करता है।


ऐसे Blog मुख्य रूप से Free Blogging Platform पर बनाए जाते हैं, जैसे कि Google के Blogspot और Wordpress पर।


Blogger: 

ऐसे व्यक्ति जो किसी तरह के ब्लॉगिंग गतिविधियों में लगे होते हैं और Actively Content Publish करते हो। (इसके अलावे ब्लॉगिंग प्लेटफार्मों में से एक Google का 'ब्लॉगर', जिसका मुख्य डोमेन नाम blogspot.com है।)


Blogging:

अपने किसी भी Technical Knoweldge या Daily Life Hacks को अन्य लोगों के साथ Share करने के लिए 'ब्लॉगिंग' एक Specific Way है। इसके जरिये आप अपने ही विचारों और Intreast से जुड़े लोगों के साथ Communicate करने में सफल हो पाते हैं।


Pro Blogger:

प्रो ब्लॉगर से मतलब, एक Professional blogger है, Blogging करना उनका full-time काम होता है। यह अपने blog से कई तरिकों से Earn करते हैं, जिनमें Display Ads, Paid products review, Blog Coaching और दुसरे paid offering शामिल होते है।


Blogspot:

ब्लॉगस्पॉट Google द्वारा प्रबंधित एक free Blogging Platform है। यदि आप ब्लॉगिंग में नए हैं तो आप Blogger.com से शुरू कर सकते हैं, क्योंकि यह बहुत सारी विशेषताओं के साथ आता है।


Domain Name:

किसी ब्लॉग या वेबसाइट के Address के लिए उपयोग किया जाने वाला नाम Domain होता है, जैसे myfirstposthindi.in या 1stposthindi.blogspot.com


Blog Template:

ब्लॉग Theme/ Template से मतलब, किसी Blog का GUI/ Display Desgin है। आपको अपने ब्लॉगर ब्लॉग के लिए Online कई free pre-made Template आसानी से मिल जायेंगे। (आप हमारी 'Best Blog Template' से जुडी लेख में से भी किसी एक Blog theme को अपने Topic के अनुसार चुन सकते हैं।)


Post:

कोई लेख, Photo, Video और Graphics के रूप में किसी ब्लॉग की सामग्री यानि Content/ उसपर मौजूद जानकारियाँ है।


Niche Blog:

किन्हीं खास लोगों को target कर लिखा जाने वाला Blog का Subject, Niche Blog कहलाता हैं। उदाहरण के लिए, अगर कोई Hosting के लिये लिख़ रहा है, तो वह केवल एक विशिष्ट दर्शकों को Web-hosting के बारे में जानने और पढ़ने में दिलचस्पी पर आधारित Blog होगा। 


Custom Domain Name:

अगर आपने किसी Free Blog Provider के साथ अपना ब्लॉग बनाया हैं, तो आपके blog का पता उसके साथ ही आता हैं। उदाहरण के लिए, हमारे Blog का Domain Name पहले myfirstposthindi.blogspot.com हुआ करता था, जो अब www.myfirstposthindi.in है।

किसी Custom Domain के साथ, हम अपने Blog Adress को एक मनपसन्द TLD के साथ बदल सकते हैं, जो याद रखने में अधिक आसान हो जाता है।


Post Label:

अगर आपके Blog पर आपने कई अलग अलग Subject पर बहुत सारे Post लिखा हैं, तो Label उन सभी Subject को एक निश्चित श्रेणी (Group) में बाटने में help करता है।

Blogger पर लेख लिखते समय, हम Post Setting के Right Side पर दिए गए Labels Link पर Click करके किसी subject के अनुसार Add कर सकते हैं। (जैसे - इस लेख के लिए हमने Label के तौर पर "Blogging" चुना हैं।)


Link:

कोई भी ऐसा Word या Sentence, जो किसी Post/ Webpage या वेबसाइट को हमसे जुड़ने में help करता है, Link कहलाता हैं। किसी भी Blog पर मौजूद उसके Post के Link उस ब्लॉग के "Internal Link" कहलाते है, जबकि किसी दुसरे ब्लॉग या वेबसाइटों के लिंक को "External Link" कहा जाता है।


Sitemap:

यह आपके Blog/ Website पर मौजूद सभी Pages की एक ही जगह पर List होती है, जो आपके Complete blog Page को Listed करती है। यह आपके Blog Subscribers और Search Bot दोनों के लिए जरुरी Page में से एक होता हैं। 


Pageviews:

इसका सीधा मतलब है, आपके Blog Redears/ Traffics द्वारा खोले गए / देखे गए Page से हैं। गूगल ब्लॉगर हमारे प्रत्येक ब्लॉग पेज पर किसी Users के आने की संख्या को रिकॉर्ड करता है और इसे Blogger Dashboard पर Statics Data (Stats) के रूप में दिखलाता है।

(Traffic: लगभग Pageviews के समान ही, यानी ब्लॉग पर आने वाले लोगों की संख्या।


SERPs (Search Engine Result Page):

हम यदि कुछ शब्दों को लिखकर, Google पर कोई Inoformation, news या Photos की तलाश करते हैं, तो जो पहला Page Open होगा, उसे Search Engine Result Page कहा जाता हैं।

उदाहरण के लिए:  अगर हम Google पर "ब्लॉग कैसे बनाएं?" Search करते हैं, तो Google एक page display करेगा, जिसमें उन Search Keyword से जुडी Post की list होगी। इसे ही SERP कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें: 


Bounce rate:

यह आपके Blog पर आने वाले वैसे Visitors का प्रतिशत (%) है, जो केवल एक पृष्ठ को देखने के बाद ब्लॉग या वेबसाइट छोड़ देते हैं।


SEO (Search Engine Optimization):

मुख्य रूप से SEO, ब्लॉगिंग में एक तरीका (Tricks) है, जिससे Blogs को आसानी से और तेज़ी से सर्च इंजन में Index करने में मदद करने के लिए उपयोग किया जाता है। जिससे आपके Blog पर Visitor की संख्या बढ़ने के साथ-साथ ही Website की Search Engine Ranking भी बढ़ती है।

SEO का मुख्य लक्ष्य विज़िटर या ट्रैफ़िक की संख्या को बढ़ाना है। SEO Tips और Tricks के लिए आप हमारे SEO Category से जुड़े लेख को पढ़ सकते हैं ।

इन्हें भी पढ़ें:


Keywords:

वैसे Words और Phrases, जो Blog पर Publish Article के Subject या पुरे Blog Content के बारे में जानकारी देते हों, Keyword होते हैं। 

हमेशा याद रखें कि आपके लिए Keywords वे शब्द भी होते हैं, जिन्हें Visitor किसी Search Engine में खोजते हैं। (पढ़ें: Keywords को Content के लिए Optimize/Use कैसे करें?)


Backlinks:

अगर आपके Blog का कोई Link किसी अन्य ब्लॉग या वेबसाइट से लिंक होते हैं, तो वह Backlinks कहलाते हैं। उदाहरण के लिए, विकिपीडिया पर आपके ब्लॉग का लिंक है, तो वह एक बैकलिंक ही है।

किसी भी Site के लिए Backlink महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि Google और अन्य दुसरे Search Engine किसी भी Blog/ Website के Trustworthy और उपयोगिता जाँचनें के लिए Backlink की संख्या और उसके Quality का उपयोग करते हैं। आपके Content से संबंधित Sites पर, आपकी Webpage को मिलने वाले अधिक Backlink का मतलब आपके Blog की अधिक लोकप्रियता से है।


Meta Tags:

किसी Webpage में लिखित एक प्रकार के HTML Code ही होते हैं, जो Blog Template में होते हैं और Search Engine को आपके Blog Content की पहचान करने में मदद करते हैं। Meta Tag में Title Tag, Description और keywords शामिल होते हैं।

Google के अनुसार: Meta Tags, Webmasters को अपनी Sites के बारे में जानकारी देने का सबसे अच्छा तरीका है।


URL:

URL का पूरा नाम: यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर है, जो अक्षरों या वर्णों की एक श्रृंखला होती है जो किसी ब्लॉग या वेबसाइट Address के बारे में बतलाता हैं। (अधिक जानें: यूआरएल क्या है इन हिंदी)


Adsense:

Google AdSense, Google का ही एक ऑनलाइन विज्ञापन नेटवर्क है। Google, Blogger's और Website Owners को अपने Blogs पर विज्ञापन प्रदर्शित करके Monetize करने (Blog से पैसा कमाने) के अवसर प्रदान करता है। 

हर बार जब कोई Google Adsense विज्ञापन पाठ पर क्लिक करता है, तो ब्लॉग स्वामी को एक कमीशन मिलेगा। Google द्वारा प्रदर्शित विज्ञापन इंस्टॉलरों से आते हैं। ब्लॉगर केवल आपके AdSense खाते में विज्ञापन इकाई कोड रखता है।

इन्हें भी पढ़ें:


Ad Impressions:

जब आपका विज्ञापन किसी उपयोगकर्ता के सामने Load और display होता है। ऐसे Impressions Action आधारित नहीं होते हैं और केवल आपके ब्लॉग के उपयोगकर्ता द्वारा केवल Ad देखकर परिभाषित किए जाते हैं।

Click-Through Rate (CTR):

यह उन लोगों का प्रतिशत है, जो SERP में आपके ब्लॉग पर Search Result में/ आपके वेबसाइट पर प्रदर्शित विज्ञापनों पर Click करते हैं। 

PPC (pay per click):

PPC, यह Internet Marketing का एक Model हैं, जिसमें Advertiser अपने विज्ञापनों में से किसी एक पर Click करने पर हर बार एक निश्चित राशि का भुगतान करते हैं। 

उदाहरण के लिए, यदि आप कुछ बेचना चाहते हैं और विज्ञापन डालने के लिए पीपीसी का उपयोग करते हैं, तो हर बार जब कोई आपके विज्ञापन पर क्लिक करता है, तो आप उस क्लिक के लिए भुगतान करते हैं (भुगतान प्रति क्लिक)।


Affiliate Marketing:

Blogger किसी भी Company के Affiliate बनने के लिए Companies के द्वारा चलायें जा रहें, Affiliate Program का उपयोग करते हैं और अपने ब्लॉग का उपयोग उनके उत्पादों को Suggest करने के लिए करते हैं, जिन्हें वे पसंद करते हैं।

यह एक तरह से पूर्ण रूप में वास्तविक लेनदेन-आधारित होता है, जिसका सीधा मतलब है कि आपको Commission सिर्फ तभी प्राप्त होता हैं, जब आपके Suggested Product या Services में से किसी प्रकार का लेनदेन होता है। 

इन्हें भी पढ़ें:




तो दोस्तों, उम्मीद करता हूँ कि ऊपर बताए Blog Term आपके शुरुआत के लिए काफ़ी है। यदि आप इनके अलावे भी अन्य कुछ Words खोज रहे हैं, तो Comment में Share करें और हम उसे समझने में आपकी सहायता जरुर करेंगे।

Happy Blogging.. :)


loading...

Post a comment

0 Comments